मेरी नाकाम-ए-हसरतें बे-नकाब हो गई!

Bewafa Shayari SMS in Hindi

दिल की बेबसी अब तो
बे-हिसाब हो गई;

तू पहले हकीक़त थी
अब ख़्वाब हो गई!

आंसुओं को तो मैंने
पलकों में छुपाए रखा;

पर मेरी नाकाम-ए-हसरतें
बे-नकाब हो गई!

Khushi Wear