आज भी याद आतें है बचपन के वो दिन

आज भी याद आतें है बचपन के वो दिन
जब उगली मेंरी पकडं कर आप ने चलना सिखाया
इस तरह जिन्दगी में चलना सिखाया
कि जिन्दगी की हर कसौटी पर आपको अपने करीब पाया!

Happy Fathers Day Papa

मेरी पहचान से आप से पापा;
क्या कहूं आप मेरे लिय क्या हो;
रहने को है पैरों के नीचे ये जमीन;
पर मेरे लिए तो मेरा आसमान आप हो!!

Happy Fathers Day Papa!

लेकिन “पापा ” के प्यार में असर बहुत है

मंजिल दूर और सफ़र बहुत है;
छोटी सी जिन्दगी की फिकर बहुत है;
मार डालती ये दुनिया कब की हमे;
लेकिन “पापा” के प्यार में असर बहुत है!