हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम

Dard Bhari Shayari Image

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम;
हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम।

अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला;
ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।।

Hanste hue zakhmon ko bhoolane lage hain ham;
Har dard ke nishan mitane lage hain ham…!

Ab aur koi zoolm sataega kya bhala;
Zulmon sitam ko ab to sataane lage hain ham…!!

तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द

Dard Bhari Shayari in Hindi Photo

तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द;

तू किसी रोज मेरे घर में उतर शाम के बाद ।।

Tu hai sooraj tujhe malum kahan raat ka dard;

Tu kisi roj mere ghar mein utare shaam ke baad!!

यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है

Dard Bhari Shayari Pictures

Yun Toh Har Ek Dil Mein Dard Naya Hota Hai;
Bas Bayaan Karne Ka Andaaz Juda Hota Hai;
Kuchh Log Aankhon Se Dard Bahaa Lete Hain;
Aur Kisi Ki Hansi Mein Bhi Dard Chhupa Hota Hai.

यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है;
बस बयान करने का अंदाज़ जुदा होता है;
कुछ लोग आँखों से दर्द को बहा लेते हैं;
और किसी की हँसी में भी दर्द छुपा होता है।।

मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया

मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया;
तुम क्यों हुए उदास तुम्हें क्या याद आ गया…?

कहने को जिंदगी थी बहुत मुख्तसर मगर;
कुछ यूँ बसर हुई कि खुदा याद आ गया!!

हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे

वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे;
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे;
हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि;
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे!!