हर खुशी की इंतेहाँ हो गई

Bewafa Shayari Image 1

हर खुशी की इंतेहाँ हो गई
मेरी बर्बादी ही मेरी वफ़ा रह गई
कैसे माँग लू प्यार उस बेवफा से
जब वो बेवफा ही किसी और की हो गई!

Har khushi ki intehan ho gai
Meri barbaadi hi meri vaafa rah gai
Kaise maang lun pyaar us bevapha se
jab vo bevapha hi kisi aur ki ho gai!!

गमो की बरसात समेटे बैठा हूँ

Bewafa Shayari Image 2

गमो की बरसात समेटे बैठा हूँ,
किसी बेवफा से फरेब खाए बैठा हूँ,
जाने कब देगा उपरवाला मौत मुझे,
खुदा के भरोसे आस लगाए बैठा हूँ!

Gamo ki barasaat samete baitha hoon,
Kisi bevapha se phareb khae baitha hoon,
Jaane kab dega uparwala maut mujhe,
Khuda ke bharose aas lagae baitha hoon!

वो जमाने में यूँ ही बेवफ़ा

Sad Shayari

वो जमाने में यूँ ही बेवफ़ा;
मशहूर हो गये दोस्त।

हजारों चाहने वाले थे;
किस-किस से वफ़ा करते।।

Vo Jamane mein yoon hi bevafa;
Mashahoor ho gaye dost.

Hajaron chaahane vaale the;
kis-kis se vafa karate..

Tanhaiyon Ke Shehar Me

Bewafa Sad Boy SMS

Tanhaiyon Ke Shehar Me Ek Ghar Bana Liya,
Ruswaiyo Ko Apna Muqaddar Bana Liya,
Dekha Hain Yaha Patthar Ko Poojte Hain Log,
Isliye Humne Apne Dil Ko Bhi Patthar Bana Liya!!

तन्हाइयों के शहर में एक घर बना लिया,
रुस्वाइयों को अपना मुक़द्दर बना लिया,
देखा हैं यहाँ पत्थर को पूजते हैं लोग,
इसलिए हमने अपने दिल को भी पत्थर बना लिया!!

तकलीफो का कारवाँ इतनी धूम से निकला

तकलीफो का कारवाँ इतनी धूम से निकला;
हर जख्म की आह पे आँखों से आँसू निकला;
बदन से रूह रुखसत हो सकी ना;
कहने को मेरी मय्यत पे सारा जहा साथ निकला !!

शाम खामोशी में ढलती रही

शाम खामोशी में ढलती रही;
हम तन्हाई में चलते रहे.

कभी हंसते खुद के नसीब पे;
तो कभी अंदर ही अंदर रोते रहे.

कभी शिकवा तो कभी ठोकेर मिली;
फिर भी हम उनसे मोहब्बत करते रहे.

हम जितना जाते रहे उनके पास;
वो बेवफा उतना ही हम से दूर होते रहे..!!