उसे इस बार वफ़ाओं से गुज़र जाने की जल्दी थी

उसे इस बार वफ़ाओं से गुज़र जाने की जल्दी थी;
मगर अबके मुझे अपने घर जाने की जल्दी थी;
मैं आखिर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता;
यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी।