मोहब्बत में जब मुझे धोखा मिला

मोहब्बत में जब मुझे धोखा मिला;
तो ज़िन्दगी में चारो ओर उदासी छा गयी;
सोचा था की आग लगा दूंगा इस दुनिया को;
पर कम्भख्त कॉलोनी में दूसरी आ गयी!!

वो छत पर चढे पतंग उड़ाने के बहाने

वो छत पर चढे पतंग उड़ाने के बहाने;

बाजु वाली भी आई कपड़े सुखाने के बहाने;

बीवी ने देखा ये हसीन नजारा और वो डंडा ले आई;
बन्दर भगाने के बहाने!!