मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया

मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया;
तुम क्यों हुए उदास तुम्हें क्या याद आ गया…?

कहने को जिंदगी थी बहुत मुख्तसर मगर;
कुछ यूँ बसर हुई कि खुदा याद आ गया!!

Khushi Wear