तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द

Dard Bhari Shayari in Hindi Photo

तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द;

तू किसी रोज मेरे घर में उतर शाम के बाद ।।

Tu hai sooraj tujhe malum kahan raat ka dard;

Tu kisi roj mere ghar mein utare shaam ke baad!!