हमने चाहा था जिसे उसे दिल से भुलाया न गया

हमने चाहा था जिसे उसे दिल से भुलाया न गया;
जख्म अपने दिल का लोगों से छुपाया न गया;
बेवफाई के बाद भी प्यार करता है दिल उनसे;
कि बेवफाई का इल्ज़ाम भी उस पर लगाया न गया!!

Khushi Wear

रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है

रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है;
ना चाहते हुए भी प्यार होता है;
क्यू देखते है हम वो सपने…
जिनके टूटने पर भी उनके सच
होने का इंतेज़ार होता है!!

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम;
दूसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम;
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से हमें;
फिर भी बारबार तन्हा छोड़ जाते हो तुम !!

तुम क्या जानो क्या है तन्हाई

तुम क्या जानो क्या है तन्हाई;
टूटे हर पत्ते से पूछो क्या है जुदाई;
यूँ बेवफ़ाई का इल्ज़ाम ना दे ए-ज़ालिम;
इस वक़्त से पूछ किस वक़्त तेरी याद ना आई!